एक ऐसा शक्स जो कभी हार नहीं मानता। आखरी कोशिश के बाद भी एक चांस लेना पसंद करता है। पत्रकार बना क्योंकि समय की नजाकत थी। अच्छा लिख लेता हूँ, क्योंकि शौक को अपना प्रोफेशन बनाया। खुद पर यकीं है और मुझे नहीं लगता कि कोई ऐसा काम है, जिसे मैं नहीं कर सकता। अपने फैसलों पर टिके रहना मेरी आदत है।

Friday, April 17, 2009

मेरी रेस खुद से है

हम सलामत होकर भी कोई अहम काम जिंदगी में करने का जोखिम नहीं उठाते। कुछ लोग अधूरे होकर भी अधूरेपन के एहसास को हौसलों के बूते भुला देते हैं। कुछ समय पहले रविवारीय में लगातार दो साल तक चले कॉलम मेरा संघर्ष में ऐसे कई लोगों के बारे में मैंने लिखा। इसी दौरान जेसिका कॉक्स की जानकारी भी मिली। पत्रिका के ही परिवार परिशिष्ट में यह आलेख हाल ही प्रकाशित हुआ। प्रकाशन के बाद बड़ी संख्या में मुझे इस आलेख को लेकर रेस्पॉन्स मिला। कहीं जेसिका का हौसला सिमट कर न रह जाए, यह पोस्ट ब्लॉग पर डाली है।

एरिजोना (अमरीका) की जेसिका कॉक्स, पहली ऐसी महिला हैं, जिन्हें पैरों से विमान उड़ाने की अनुमति मिली है।

इस आलेख को विस्तार से पढऩे के लिए तस्वीर पर क्लिक करें।

Monday, April 13, 2009

मंजिल के मददगार


देश के प्रतिष्ठित व्यावसायिक घरानों को जब सरकारी ताले खोलने होते हैं, तो उन्हें इन हुनरमंद चाबियों की जरूरत होती है। हुनरमंद चाबियां यानी 'कॉर्पोरेट जुगाड़'। ऐसे जुगाड़ जो किसी भी बड़ी कंपनी में ना नहीं सुनने वाले शीर्ष प्रबंधकों की हर व्यावसायिक मांग को पूरा करवाते हैं। सरकारी 'जुगाड़' लगाने, फाइलों पर चलने वाली ऐसी कलम जो करोड़ों का नुकसान करवा सकती है को मैनेज करने, देश चलाने वाले नेताओं से शीर्ष कॉर्पोरेटर्स की मुलाकातें करवाकर अहम फैसले करवाने और लॉबिंग में इनकी सबसे अहम भूमिका होती है। मीडिया से लेकर हर उस संसाधन का इस्तेमाल यह बेहतरी से करना जानते हैं, जिनकी जरूरत कॉर्पोरेट घरानों को कदम-कदम पर पड़ती है। अंबानी, टाटा सहित बड़े राजनेता इनके मार्गदर्शन पर अपने फैसले लेते और बदलते हैं।

Saturday, April 4, 2009

विकास की ओर...

रूरल इंडस्ट्रीयल डेवल्पमेंट के लिए समर्पित डॉ. महर्षि वित्त जगत में खासा दखल रखते हैं। लघु उद्योग के पक्षधर और कृषि को अर्थव्यवस्था का आधार मानने वाले डॉ. महर्षि की शोसियो इकोनॉमिक डेवल्पमेंट में भी खास दिलचस्पी है। ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स के निदेशक के तौर पर वे न केवल बैंकिंग को ग्रामीण विकास से जोडऩे में जुटे हैं, बल्कि आम व्यवसायी तक उसकी पहुंच आसान बनाने के लिए भी उनकी कोशिशें रंग ला रही हैं। हाल ही एक कोलकाता से जयपुर आए डॉ. महर्षि से मुलाकात का मौका मिला।

 
Design by Wordpress Theme | Bloggerized by Free Blogger Templates | coupon codes