एक ऐसा शक्स जो कभी हार नहीं मानता। आखरी कोशिश के बाद भी एक चांस लेना पसंद करता है। पत्रकार बना क्योंकि समय की नजाकत थी। अच्छा लिख लेता हूँ, क्योंकि शौक को अपना प्रोफेशन बनाया। खुद पर यकीं है और मुझे नहीं लगता कि कोई ऐसा काम है, जिसे मैं नहीं कर सकता। अपने फैसलों पर टिके रहना मेरी आदत है।

Thursday, June 25, 2009

ब्लॉगर्स शुक्रिया!




9/11 के आतंकवादी हमले की ब्लॉग पर प्रकाशित छह कडिय़ों को लेकर दुनियाभर के ब्लॉगर्स का रेस्पॉन्स मिला। अविश्वसनीय रेस्पॉन्स! उन छह दिनों में 950 से ज्यादा लोगों ने ब्लॉग पर हिट किया और कडिय़ों को पढ़ा। न केवल देशभर से मुझे फोन के जरिए जाने कितने ही ब्लॉगर्स ने संपर्क किया, बल्कि उन्हें पड़ताल का तरीका भी पसंद आया। इसी दौरान मुझे अमरीका और दुबई जैसे देशों से भी फोन आए, ई-मेल आए। मैं नहीं जानता लोगों ने मेरा मोबाइल नंबर कहां से जुटाया। शायद कुछ ब्लॉगर्स को परेशानी भी हुई, जिसके लिए मैं उनसे माफी चाहंूगा।

कुछ ब्लॉगर्स ने सरकारी घोटालों, तो कुछ ने अंतरराष्ट्रीय घोटालों के दस्तावेज गोपनीय रूप से मेल भी किए। कुछेक मित्रों ने अपने निजी मामलों में खोजबीन करने का प्रस्ताव रखा। आप सभी मेरे लिए सम्माननीय हैं, सिर्फ इतना ही निवेदन करूंगा कि जब मौका मिला, समय निकाल पाया सही काम की पड़ताल करने के लिए हमेशा तैयार हंू। आप आधी रात को भी बेझिझक गोपनीय मामलों के संबंध में संपर्क कर सकते हैं।

आप सभी ब्लॉगर्स और भविष्य में जुडऩे वाले ब्लॉगर्स को परेशानी ना हो इसलिए अभी-अभी मैंने अपने ब्लॉग पर गैजेट में मोबाइल नंबर चस्पा कर दिया है। ...खास आपके लिए। ताकि आप परेशान ना हों।

शुक्रिया।

11 comments:

Kishore Choudhary said...

आप इसकी योग्यता रखते हैं कि आपको सराहा जाये,
क्या कोई श्रम कभी बेकार जाता है ? मैंने भी उन रिपोर्ट्स को पढा था लेकिन एक ही बार में इसलिए अलग अलग कमेन्ट नहीं कर पाया.
मेरी भी आपको बधाई

Udan Tashtari said...

ये बहुत बढ़िया रहा. जारी रखिये अपनी मेहनत, शुभकामनाऐं.

रंजन said...

कुछ कड़ीया मैनें भी पढी थी.. आपका शोध बहुत अच्छा है.. (परिणामों से असहमत होते हुऐ भी)..

Vivek Rastogi said...

आखिरकार मेहनत का फ़ल मीठा होता है।

Anil Pusadkar said...

बहुत-बहुत शुभकामनाएं।

●๋• सैयद | Syed ●๋• said...

बिलकुल... आप डिजर्व करते हैं....

... आप जयपुर में ही रहते है.... कभी हमारे लिए टाइम निकल लीजिये...

Pt.डी.के.शर्मा"वत्स" said...

आपकी मेहनत वाकई में प्रशंसा योग्य है.........

अविनाश वाचस्पति said...

एक काम सौंपे आपको
वैसे काम आपका ही है
बेनामी धड़ल्‍ले से झूम रहे हैं
इनकी खोज खबर लाइये
जो हो रहे हैं परेशान
उन्‍हें अवश्‍य बचाइये
सबकी शुभकामनायें पाइये।

murli said...

jakhar bhai
lage raho
vakai aankhe kholne wala khulasa

murli

jatin said...

thats gr8 today i read all the episodes and i want toleave a msg that.......................
U R THE BEST...............
carry on.............jai ho....

आशीष खण्डेलवाल (Ashish Khandelwal) said...

बहुत खूब.. आपके ब्लॉग को यूं ही दिन-दूनी रात-चौगुनी लोकप्रियता मिलती रहे..

 
Design by Wordpress Theme | Bloggerized by Free Blogger Templates | coupon codes