एक ऐसा शक्स जो कभी हार नहीं मानता। आखरी कोशिश के बाद भी एक चांस लेना पसंद करता है। पत्रकार बना क्योंकि समय की नजाकत थी। अच्छा लिख लेता हूँ, क्योंकि शौक को अपना प्रोफेशन बनाया। खुद पर यकीं है और मुझे नहीं लगता कि कोई ऐसा काम है, जिसे मैं नहीं कर सकता। अपने फैसलों पर टिके रहना मेरी आदत है।

Wednesday, July 22, 2009

तकनीक का तेज खिलाड़ी


एलेक्सा रैंकिंग देखेंगे, तो आप चौंक जाएंगे। ग्रामीण पृष्ठभूमि से ताल्लुक रखने वाले जयपुर के युवा सीईओ आनंद माहेश्वरी (26) की वेब होस्टिंग और डेवल्पमेंट साइट बी4यू इंडिया डॉट कॉम (http://www.b4uindia.com/) तेजी से चर्चित हो रही है।


विश्व की 10 करोड़, 98 लाख वेबसाइटों में बी4यू इंडिया डॉट कॉम 45,348 के पायदान पर है। अपनी शुरूआत के चार साल में इस पायदान पर पहुंचना ही खुद ब खुद बी4यू इंडिया डॉट कॉम की सफलता की कहानी बयान कर देता है। 19 अप्रेल, 2005 को करियर के हर विकल्प के आगे हार मान चुके 22 वर्षीय युवा आनंद माहेश्वरी ने एक डोमेन रजिस्टर करवाया। यही डोमेन आज दक्षिण एशिया सहित, अमरीका और यूरोपीय देशों में खासा चर्चित है। व्यापारी वर्ग के लिए येलो पेजेज, युवाओं के लिए 1500 से ज्यादा फ्री गेम्स, शॉपिंग स्टेशन और न्यूज पोर्टल के रूप में स्थापित यह वेबसाइट वेब होस्टिंग के क्षेत्र में देश में दूसरे नंबर पर आ चुकी है। 6 हजार क्लाइंट्स और सालाना 40 लाख के टर्नओवर के साथ बी4यू इंडिया का सफर जारी है। जुनून से बनी अपनी कंपनी की शुरूआत के बारे में बताते हुए आनंद कहते हैं, 'चार साल पहले मैंने 20 हजार रुपए इकट्ठे किए और एक कंप्यूटर खरीद कर काम शुरू किया। अमरीका और यूरोप से वेबसाइट बनाने का फ्रीलांस काम लेना शुरू किया और पहले महीने मात्र 1500 रुपए का फायदा हुआ। मैं जुटा रहा, क्योंकि मेरे पास वापस लौटने का विकल्प नहीं था।' ग्रामीण पृष्ठभूमि वाले परिवार से ताल्लुक रखने के बावजूद ई-तकनीक में कम उम्र में ही महारत हासिल करने वाले आनंद के पास अब पांच लोगों का स्टाफ है। हर रोज 16 घंटे से ज्यादा अपने काम को देने वाले आनंद की पढ़ाई गांव के स्कूल में ही हुई। स्नातक के बाद आरएएस व आईएएस की तैयारी में जुट गए। दो सालों तक तैयारी के बावजूद भी जब कहीं सलेक्ट नहीं हुए, तो अपने करियर को नई उड़ान देने की कोशिश में जुट गए। आनंद बताते हैं, 'अनाज के कारोबार वाले आड़तिया परिवार से ताल्लुक होने की वजह से मुझे कोई गाइड करने वाला नहीं था। मैंने कंप्यूटर कोर्स इसलिए किया, क्योंकि उस दौर में सब ऐसा कर रहे थे। परीक्षाएं दीं, लेकिन जब चारों तरफ से फेल हो गया, तो मैंने अपने उस हुनर को टटोला जिसमें मेरी दिलचस्पी थी। कई सालों पहले मैं हर रोज 14-15 घंटे नेट खंगालता रहता। बस मैंने अपनी इसी दिलचस्पी को व्यापार का रूप देने की ठान ली।' आनंद अब ग्लोबल प्लेयर बनने की पूरी तैयारी कर चुके हैं। आनंद कहते हैं, 'जब मैंने कंपनी के नाम में इंडिया जोड़ा, सबने कहा था सक्सेस नहीं हो पाओगे और क्योंकि कंपनी के नाम के साथ इंडिया जुड़ा हुआ है। आज अपनी कंपनी के नाम में इंडिया होने की वजह से एक बड़ा वर्ग जो भारत से काम चाहता है, हम पर भरोसा जता रहा है।'

आनंद की इस तेजी से चर्चित हो रही वेबसाइट को देखने के लिए कृपया यहां क्लिक करें-

आनंद का फोन नंबर- 09351159225
(राजस्थान पत्रिका के रविवारीय 19 जुलाई, 2009 में प्रकाशित मेरे आलेख 'मेरा देश मेरा गांव' से...)

9 comments:

sushant jha said...

very good article...this is the strength of blog.

MUMBAI TIGER मुम्बई टाईगर said...

बधाई भाई बधाई

Ratan Singh Shekhawat said...

आनंद जी को बहुत बहुत बधाई | और आपका आभार इस महत्वपूर्ण जानकारी देने के लिए | आनंद जी की साईट देखकर अपनी वेब साईट भी इनके यहाँ होस्ट रखने पर विचार करेंगे |

Vivek Rastogi said...

युवा शक्ति को नमन ।

प्रवीण जाखड़ said...

ई-मेल से मिली टिप्पणी-

Dear Jakhar,

I dont know how i am getting your email. But really I like it. I have gone through about your introduction available on net. I am happy that you are doing excellent work in the field of writing.

Keep it up...

With Regards

Mohan Lal Malvi
Senior Manager(Electronics)
Bangalore Airport

GIRDHARI said...

nice article
4 youth to take inspriation

Kishore Choudhary said...

आश्चर्यजनक और हौसला बढाने वाली खबर है
हम उस बिकाऊ समय में जी रहे हैं जहाँ ख़बरों के वर्गीकरण में इस तरह के समाचार सिर्फ परिशिष्ठों में स्थान पा सकते हैं. B4U से मेरा परिचय उसके शैशव काल से ही तब ये मौज मस्ती और युवाओं का पोर्टल था और मैं इसे किसी बड़े औधोगिक समूह का उपक्रम समझता था अब मालूम हुआ तो सुखद लग रहा है आनंद को शुभकामनाये आपका आभार !

प्रवीण जाखड़ said...

ई-मेल से मिली टिप्पणी (24.7.09)-

jakhar bhai

i read your artical. maja aa gaya.

Arvind Sharma
Sikar
apkikhabar.blogspot.com

neeraj singh said...

REALLY DONE A GR8 JOB... MANY MANY CONGRATULATIONS TO ANAND BHAI. GR8 INSPIRATION.

 
Design by Wordpress Theme | Bloggerized by Free Blogger Templates | coupon codes